ताज़ा ख़बर

राहुल के गढ़ अमेठी में नरेन्द्र मोदी का गांधी परिवार पर जोरदार हमला

अमेठी। बीजेपी के पीएम कैंडिडेट नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के गढ़ अमेठी में गांधी परिवार पर जमकर निशाना साधा। लोकसभा चुनाव के नौंवे चरण के चुनाव प्रचार के आखिरी दिन मोदी पार्टी की उम्मीदवार स्मृति ईरानी के लिए चुनाव प्रचार करने अमेठी पहुंचे। रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि 10 साल से सोनिया गांधी का पूरा ध्यान अपने बेटे राहुल गांधी को सेटल करने में है। गांधी-नेहरू परिवार पर हमला करते हुए मोदी ने कहा कि उन्होंने 40 साल में अमेठी के सपने चूर-चूर कर दिए। मौजूदा सांसद राहुल गांधी पर वार करते हुए मोदी ने कहा, 'मैं हैरान हूं। गली-गली, मोहल्ले-मोहल्ले जाकर गुजरात मॉडल के बाल की खाल निकालने वालों ने कभी अमेठी का हाल भी पूछा है?' इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर मैं हार गया तो चाय बनाऊंगा और मेरा चाय बनाने का सामान भी तैयार है। हार के साथ मोदी का करियर खत्म होने के कांग्रेसी नेताओं के बयान पर बीजेपी के पीएम कैंडिडेट ने पलटवार किया। मोदी ने कहा, 'कांग्रेस के नेता कह रहे हैं कि राहुल हार जाएंगे तो वह विपक्ष में भी बैठेंगे, लेकिन मोदी हार जाएगा तो कहां जाएगा। मेरे कांग्रेस के नेताओ, चिंता मत करो, मेरी चाय बनाने की केतली का सामान तैयार है। चाय बेचकर पेट का गुजारा करना आता है।' मोदी ने गांधी परिवार पर सिर्फ वोट बटोरने की राजनीति करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, 'दिग्गजों ने अमेठी को कुछ नहीं दिया। 40 साल में इस परिवार (नेहरू-गांधी) ने तीन पीढ़ियों के सपनों को चकनाचूर किया है। मैं नई पीढ़ी के आंखों में सपने संजोने आया हूं। मैं यहां सिर्फ आपके दर्द को बांटने के लिए आया हूं।' मोदी ने कहा, 'मैडम सोनिया ने कहा कि चुनाव नतीजे नहीं आए और मोदी खुद को पीएम मान बैठे हैं। मैं मां की चिंता समझता हूं। 10 साल उन्होंने बेटे को सेटल करने के लिए कितने कष्ट झेले हैं, मैं जानता हूं। इसलिए मां के नाते आपके 10 साल की मेहनत पानी में जा रही है, इसके कारण आपकी परेशानी मैं समझ सकता हूं।' 'नरेंद्र मोदी अभी से ही खुद को पीएम मान बैठे हैं' वाले बयान पर बीजेपी के पीएम कैंडिडेट ने सोनिया गांधी पर चुटकी की। उन्होंने कहा, 'मैडम सोनिया जी ने मुझे पीएम मान लिया है। और तो क्या कहूं इतना ही कहता हूं कि आपके मुंह में घी शक्कर।' मोदी ने कहा, 'मैं मां-बेटे के गुस्से को समझ सकता हूं, क्योंकि आज तक उन्होंने गरीबों के नाम पर देश को ठगा है। उन्होंने सोचा नहीं था कि गरीब मां का बेटा उन्हें ललकारेगा।' उन्होंने कहा कि गांव, गरीब के घर से बच्चे आने वाले हैं, अच्छे दिन आने वाले हैं। मोदी ने अमेठी में वोटिंग से पहले वोटरों में पैसे बांटने की आशंका भी जाहिर की। बीजेपी के पीएम कैंडिडेट ने कहा कि आज अमेठी का मार्केट बढ़ने वाला है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की गाड़ियां निकल चुकी हैं और वे गाड़ियां माल से भरी पड़ी हैं। मोदी ने कहा कि चुनाव आयोग अमेठी में निष्पक्ष चुनाव करके दिखाए। मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष परनिशाना साधते हुए कहा, 'मैडम सोनिया जी ने कहा कि यह मोदी तो मांग रहा है। मैंने कहा था ये दिल मांगे मोर। आज भी मैं कहता हूं कि अमेठी में मैं मांगने के लिए आया हूं। मुझे इस पर गर्व है। सोनिया जी, आप जैसे राजपरिवारों ने हमारे लिए कुछ छोड़ा है क्या? हम मांगते हैं, नोचते तो नहीं हैं ना। आप ही बताइए मांगने वाला अच्छा कि लूटने वाला?' मोदी ने कहा कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी पर भी मोदी लहर का असर हुआ है। उन्होंने कहा, 'पहले तो ये मां-बेटे कभी मेरा नाम नहीं लेते थे। उन्हें लगता था कि इस आदमी का नाम ले लिया तो जिंदगी का क्या हो जाएगा। जब पूरा देश मोदी-मोदी कर रहा है तो इसका असर तो उन पर भी होता है। पिछले चार-पांच दिन से वह मेरा नाम ले रहे हैं।' नरेंद्र मोदी ने कहा कि अमेठी से चुनाव लड़ रहे कांग्रेस और बीजेपी कैंडिडेट की तुलना करते हुए कहा, 'एक कोने में मेरी छोटी बहन (स्मृति ईरानी) और दूसरे कोने में राहुल और पूरे परिवार को खड़ा कर दें। उनसे अमेठी के गांवों के नाम पूछें जाएं तो स्मृति ईरानी 100 गांवों के नाम बताएंगी, लेकिन राहुल और पूरा परिवार 10 गांवों के नाम भी नहीं बता पाएगा।' आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव की ओर इशारा करते हुए मोदी ने गांधी परिवार पर हमला करते हुए कहा कि अगर लोगों को जेलों से बाहर निकाल-निकाल कर राजनीति के दांव खेलेंगे, तो यह नहीं चलेगा। गौरतलब है कि लालू यादव को चारा घोटाले में सजा हो चुकी है और वह जमानत पर बाहर हैं। मोदी ने कहा, 'अब तक जो वोटिंग हुई है, उसमें यह तय हुआ है कि देश की जनता ने दो काम पूरे कर दिए हैं। एक, मां-बेटे की सरकार गई और वोटरों ने दूसरा काम यह किया है कि नई सरकार का शिलान्यास कर दिया है।' मोदी ने कहा कि उन्होंने चुनाव तो बहुत देखे हैं, लेकिन यह चुनाव सभी पॉलिटिकल पंडितों के हिसाब-किताब को गलत साबित कर देगा। उन्होंने अमेठी की जनता से अपील की कि यहां से कमल भेजिए और मजबूत सरकार बनाइए। नरेंद्र मोदी ने बीजेपी नेता स्मृति ईरानी को अमेठी से चुनाव लड़वाने की रणनीति का खुलासा किया। मोदी ने कहा, 'मैं आज अपनी रणनीति और सोच का खुलासा करना चाहता हूं। आखिर हमने स्मृति को अमेठी क्यों भेजा? राहुल को परेशान करने नहीं भेजा। स्मृति को मैंने राहुल जी की मुसीबतें बढ़ाने नहीं, अमेठी की मुसीबतें कम करने के लिए भेजा है।' बीजेपी के पीएम कैंडिडेट ने कहा, 'स्मृति जी मेरे साथ काम करती हैं। मेरे गुजरात से वह राज्यसभा की सदस्य हैं। जब वह राज्यसभा से चुनकर आईं, तो मैंने गुजरात के कुछ पिछड़े जिले सौंपे। आज मैं गर्व से कह सकता हूं कि उन्होंने उस जिले को शानदार और जानदार बना दिया। तब जाकर मैंने फैसला किया कि यूपी के सबसे बदहाल जिले में मैं स्मृति जी को भेजूंगा। तब मेरे दिमाग में अमेठी नहीं था। मैंने जांच पड़ताल की और पाया कि यूपी में सबसे बुरा हाल वाला जिला अमेठी है। उसी दिन मैंने ठान लिया कि आने वाले 60 महीने में मैं अमेठी को बदलकर रख दूंगा। दुनिया के लोग यहां केस स्टडी करने आएंगे।' मोदी ने कहा कि मैं यहां बदले की राजनीति करने नहीं आया हूं और मेरा वह रास्ता नहीं है। उन्होंने कहा, 'मैं यहां बदलाव की राजनीति करने आया हूं। हम बदला नहीं, बदलाव चाहते हैं। मेरी छोटी बहन (स्मृति ईरानी) पर मुझे भरोसा है।'
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: राहुल के गढ़ अमेठी में नरेन्द्र मोदी का गांधी परिवार पर जोरदार हमला Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल