ताज़ा ख़बर

2009 में भी 16 मई को ही आए थे चुनाव के नतीजे

लखनऊ। 16 मई यानी कैलेंडर ईयर का 136वां दिन। इसे संयोग ही कहा जाएगा कि 15वीं लोकसभा चुनाव का परिणाम भी 16 मई 2009 को घोषित किया गया था। गांव की चौपालों, शहर की गलियों और नुक्कड़ों से लेकर दुनिया भर के लोगों की नजर आज टिकी हुई है। हर कोई जानना चाह रहा है कि भारत की सियासत इस बार किस ओर करवट लेगी। देखा जाए तो 16 मई अपने आप में कई इतिहास समेटे हुए हैं। इससे पहले 15वीं लोकसभा चुनाव का परिणाम भी 16 मई 2009 को घोषित किया गया था। 16 का यह आंकड़ा देश की राजनीति में काफी महत्व रखता है। 16 मई 1996 को अटल बिहारी वाजपेयी पहली बार प्रधानमंत्री बने थे और वह 1 जून 1996 तक इस पद पर रहे। उनकी सरकार वैसे 13 दिन में गिर गई थी, लेकिन वह 16 दिन तक प्रधानमंत्री की कुर्सी पर रहे। मई महीने के दौरान 16 के बाद 22 तिथि का भी महत्व है। 22 मई 2004 और 2009 को डॉ. मनमोहन सिंह ने प्रधानमंत्री के रूप में पहला और दूसरा कार्यभार संभाला। अब देखना यह है कि 16वीं लोकसभा का चुनाव आने के बाद नई सरकार का गठन किस तिथि को होता है। (साभार)
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: 2009 में भी 16 मई को ही आए थे चुनाव के नतीजे Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल