ताज़ा ख़बर

शाजिया व गोपीनाथ का आप से इस्तीफा, केजरीवाल पर साधा निशाना

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी और अरविंद केजरीवाल का जादू खत्म होता जा रहा है। एक समय था इस पार्टी में शामिल होने के लिए लोगों की लाइन लग गई थी। दिल्ली विधान सभा चुनाव से लोकसभा चुनाव समाप्त होते होते इस पार्टी को बाय बाय कहने वालों की कतार लग गई है। इस कतार में आप की संस्थापक सदस्य शाजिया इल्मी और जी आर गोपीनाथ भी शामिल हो गए हैं। शाजिया इल्मी ने आम आदमी पार्टी से इस्तीफा दे दिया। शाजिया के अलावा भारत में सस्ती विमान सेवा की शुरुआत करने वाले जी आर गोपीनाथ ने भी आज आम आदमी पार्टी से इस्तीफा दिया। शाजिया ने पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया है। इस्तीफे के बाद शाजिया ने मीडिया से कहा कि पार्टी में लोकतंत्र नहीं है। उन्होंने कहा, मैं दूखी मन से पार्टी छोड़ी रही हूं और काफी सोचने के बाद पार्टी से इस्तीफा दिया। पार्टी में कई गलतियां हैं और पार्टी गलत दिशा में जा रही हैं। केजरीवाल स्वराज का पालन नहीं कर रहे हैं। केजरीवाल खुद स्वराज की नीति नहीं मान रहे हैं। केजरीवाल करीबियों से जकड़े हैं। अरविंद पार्टी में लोकतंत्र लागू नहीं कर पा रहे हैं। शाजिया ने कहा कि पार्टी में मुझे जानबूझकर दरकिनार किया गया है। मैंने अलग आवाज उठाई, इसलिए मुझे किनारा किया। शाजिया ने केजरीवाल पर उंगली उठाते हुए कहा कि जेल के तमाशे से कुछ नहीं होगा। केजरीवाल को बेल बॉन्ड भरना चाहिए था। शाजिया ने पार्टी की रणनीति पर भी सवाल उठाया, उन्होंने कहा कि सनसनी के लिए धरना देना गलत है। शाजिया ने कहा कि केजरीवाल को कार्यकर्ताओं से बात करनी चाहिए लेकिन वे कुछ लोगों से घिरे हुए हैं। उन्होंने कहा, गाजियाबाद से चुनाव लड़ने से नराजगी की बात अफवाह है। गाजियाबाद लोकसभा सीट से चुनाव में उतरी थीं। वह इस सीट से हार गयीं थी। वह आप से उसकी स्थापना के समय से ही जुड़ी रही हैं। लोकप्रिय अल्पसंख्यक चेहरा समझी जाने वाली शाजिया आर के पुरम से दिल्ली विधानसभा चुनाव भी हार गई थीं। भारत में कम कीमत के हवाई यातायात में प्रमुख भूमिका निभाने वाले जीआर गोपीनाथ पार्टी नेतृत्व में बढ़ते मतभेद का हवाला देते हुए आज आम आदमी पार्टी छोड़ दी और अरविंद केजरीवाल की कार्यप्रणाली की आलोचना की। आप के कर्नाटक के संयोजक पृथ्वी रेड्डी को भेजे संदेश में उन्होंने कहा, मैं पार्टी नेतृत्व के साथ बढ़ते मतभेदों तथा इसके रास्ते से भटकने के कारण तत्काल प्रभाव से आम आदमी पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा देना चाहूंगा। इस साल जनवरी में आप में शामिल हुए गोपीनाथ ने कहा कि उन्होंने मीडिया में भी अपने ज्यादातर नजरिए रखे हैं और पार्टी को भविष्य के कार्यों के लिए अच्छा करने की शुभकामनाएं दीं। संपर्क किए जाने पर गोपीनाथ ने फ्रांस के तुलूस से फोन पर इस गतिविधि की पुष्टि की। तुलूस में ही विमानन कंपनी एयरबस का मुख्यालय है।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: शाजिया व गोपीनाथ का आप से इस्तीफा, केजरीवाल पर साधा निशाना Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल