ताज़ा ख़बर

धारणा की लड़ाई हार चुकी है कांग्रेसः जयराम

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश ने माना है कि कांग्रेस धारणा के स्तर पर लड़ाई हार गई है क्योंकि शीर्ष नेतृत्व ने लोगों से संवाद कायम नहीं किया। उन्होंने स्वीकार किया कि सत्ता में 10 साल रहने के बाद कांग्रेस सत्ता विरोधी लहर का सामना कर रही है। रमेश ने कहा कि यह चुनावी मुहिम चुनौतीपूर्ण है लेकिन पार्टी तीन अंकों की सम्मानजनक संख्या में मत हासिल करेगी। रमेश ने कहा, 'अतिसक्रिय न्यायपालिका, कैग जैसे बेहद सक्रिय संवैधानिक अधिकारी, आक्रामक मीडिया और गैर जिम्मेदार सिविल सोसायटी मिल गए हैं। हमारी प्रतिक्रिया भी धीमी थी। हमने अपनी बात प्रभावशाली तरीके से नहीं पहुंचाई। हमारे शीर्ष नेतृत्व ने संवाद कायम नहीं किया। राजनीति संवाद पर आधारित है। इसलिए हम धारणा के स्तर पर लड़ाई हार गए और हमने उन्हें गंभीरता से नहीं लिया।' उन्होंने कहा कि बीजेपी की मुहिम व्यक्ति पर केंद्रित है। केंद्रीय मंत्री ने कहा, 'मीडिया में व्यक्ति केंद्रित मुहिम अधिक समाचार बनाती है। इसलिए मोदी जो कुछ भी करते हैं, वह जो कुछ भी कहते हैं, मीडिया उसके पीछे जाता है। एक कुत्ते का आदमी को काटना कोई खबर नहीं है। आदमी का कुत्ते को काटना मुख्य समाचार बन जाता है।' हालांकि जयराम रमेश ने चुनाव पूर्व सर्वेक्षण के अनुमानों को नरेंद्र मोदी के सुनहरे सपने करार दिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस चुनाव सर्वेक्षणों को लेकर बेफिक्र है, जिन्होंने हमेशा बीजेपी के प्रदर्शन को वास्तविकता से अधिक आंका है, भले ही वह 2004 के चुनाव हों या 2009 के। रमेश ने कहा कि योगेंद्र यादव जो कि बहुत गहन और गंभीर चुनाव विश्लेषण करते हैं, उन्होंने एक बार कहा था कि चुनाव पूर्व सर्वेक्षण सही नहीं रहे हैं और उन्होंने हमेशा बीजेपी को वास्तविकता से अधिक आंका है। कांग्रेस को एक कछुआ बताते हुए जयराम रमेश ने कहा कि पार्टी विपक्ष में बैठने के लिए नहीं बल्कि जीतने के चुनाव लड़ रही है। रमेश ने कहा, 'कांग्रेस खरगोश और कछुए की कहानी के कछुए की तरह है। अंतत: जीत कछुए की होती है।'
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: धारणा की लड़ाई हार चुकी है कांग्रेसः जयराम Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल