ताज़ा ख़बर

क्या है भाजपा के घोषणा पत्र में, आप भी पढ़िए...

नई दिल्ली। भाजपा ने सोमवार को अपना चुनावी घोषणापत्र जारी कर दिया। देश में सुशासन और मजबूत अर्थव्यवस्था के वायदे के साथ भाजपा ने राम मंदिर, अनुच्छेद 370 और समान नागरिक संहिता जैसे विवादित मुद्दों पर अपना रुख कायम रखा। हालांकि पहले चरण के मतदान की शुरुआत के दिन ही घोषणापत्र जारी करने पर विपक्षी दलों ने भाजपा को आड़े हाथों लिया है। भाजपा के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी ने 64 पन्नों का घोषणा-पत्र जारी किया। उन्होंने घोषणा-पत्र में ई-गवर्नेस को बढ़ाने और भ्रष्टाचार को रोकने पर जोर दिया। घोषणा-पत्र में भाजपा ने ब्रांड इंडिया तैयार करने का वादा करते हुए ‘एक भारत-श्रेष्ठ भारत’ का नारा भी दिया। जोशी ने राम मंदिर को घोषणापत्र में शामिल करने पर कहा, ‘हमने इसे सांस्कृतिक विरासत के खंड में रखा है। यह मुद्दा पूर्व के घोषणापत्रों में भी शामिल किया जाता रहा है। इसे लेकर पार्टी का रुख बदला नहीं है।’ भाजपा द्वारा राम मंदिर जैसे विवादित मुद्दे को अपने घोषणापत्र में शामिल करने पर कांग्रेस ने चुनाव आयोग से इसकी शिकायत की है।
कुछ अहम घोषणाएं: सस्ते घर, 100 नए शहर बनाए जाएंगे, बुलेट ट्रेन के लिए विशेष कॉरीडोर, दाम स्थिर रखने को विशेष फंड, देश में राष्ट्रीय गैस ग्रिड बनाई जाएगी, हर घर में पाइप लाइन से पानी, हर गांव को इंटरनेट से जोड़ा जाएगा, स्वास्थ्य मंत्रालय का पुनर्गठन होगा, हर राज्य में एम्स जैसा संस्थान, कालाबाजारी से निपटने को खास कोर्ट, बेहतर शिक्षा के लिए ई-लाईब्रेरी, मदरसों का आधुनिकीकरण होगा।
इधर नहीं दिया ध्यान: सब्सिडी वाले गैस सिलेंडर की संख्या को लेकर कोई जिक्र नहीं किया, वेतनभोगियों की आयकर छूट बढ़ाने को लेकर चर्चा नहीं, ब्याज दरें कितनी और कैसे घटाएंगे इसका जिक्र नहीं, बिहार को विशेष दर्जा देने या स्पेशल पैकेज का उल्लेख नहीं।
भाजपा के जारी घोषणापत्र में राम मंदिर और हिंदुत्व के एजेंडे पर अन्य दलों ने हमला तेज कर दिया है। कांग्रेस के नेता दिग्विजय सिंह का कहना है कि भाजपा धर्म की आड़़ में राजनीतिक खेल खेलना चाहती है। कांग्रेस प्रवक्ता राशिद अल्वी ने कहा भाजपा का वादा है कि वह सभी के लिए घर बनाएगी, पीने का साफ पानी देगी। हम पूछते हैं कि इतना पैसा आएगा कहां से और कितने दिनों तक चलेगा। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का कहना है कि भाजपा ने वरिष्ठ नेता आडवाणी का कद छोटा कर दिया है। वाम दलों का कहना है कि हिंदुत्व की आड़़ में भाजपा हिंदू वोटों का ध्रुवीकरण करना चाहती है। सीपीआईएम के वरिष्ठ नेता सीताराम येचुरी का आरोप है कि भाजपा ने हार्डकोर हिंदुत्व के मुद्दे, धारा-370 को समाप्त करने व समान नागरिक संहिता को मुद्दा बनाया है, यही 'वास्तवितक एजेंडा' है। जम्मू कश्मीर के सीएम उमर अब्दुल्लाह ने भाजपा के घोषणा पत्र पर कहा कि इससे पहले भी लोगों ने देखा है कि कैसे सत्ता में आने के लिए भाजपा ने समान नागरिक संहिता, राम मंदिर व धारा-370 को मुद्दा बनाया था, उसे मुंह की खानी पड़ी थी। सपा नेता नरेश अग्रवाल ने कहा कि यह भाजपा के लिए किसी तरह सत्ता पाने का दिखावा है। ये केवल लोगों के शव पर चढ़कर सत्ता में आने की राजनीति है।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: क्या है भाजपा के घोषणा पत्र में, आप भी पढ़िए... Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल