ताज़ा ख़बर

केजरीवाल ने ली शपथ, बने दिल्ली के मुख्यमंत्री

नई दिल्ली। भ्रष्टाचार विरोधी मुहिम के नायक रहे अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली। उपराज्यपाल नजीब जंग ने उन्हें और 6 मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। अरविंद केजरीवाल और उनकी कैबिनेट के सारे सदस्य दिल्ली मेट्रो में सवार होकर रामलीला मैदान रवाना हुए। भारतीय राजनीति में 28 दिसंबर 2013 को नई इबारत लिखी गई, जब भ्रष्टाचार विरोधी मुहिम से खड़ी हुई महज डेढ़ साल पुरानी आम आदमी पार्टी ने दिल्ली की सत्ता संभाल ली। आम जनता ने आप को सत्ता के दरवाजे पर पहुंचा दिया। एक अलग राजनीति की शुरुआत करने वाली आम आदमी की बात करने वाली आम आदमी पार्टी ने नया इतिहास रचा। अरविंद केजरीवाल सहित आप के सभी मंत्री कौशांबी मेट्रो स्टेशन से एक साथ दिल्ली के लिए रवाना हुए। विधायकों के साथ उनके परिवार के सदस्य भी रामलीला मैदान पहुंचे। आज कौशांबी में केजरीवाल के घर के बाहर लोगों की जबरदस्त भीड़ नजर आई। भीड़ का आलम देख केजरीवाल को पिछले दरवाजे से मेट्रो स्टेशन के लिए निकलना पड़ा। केजरीवाल अपने मंत्रियों के साथ दिल्ली के लिए मेट्रो से रवाना हुए। मैदान खचाखच भरा नजर आया। हजारों की संख्या में आम आदमी की टोपी पहने लोग मैदान में नजर आ रहे हैं। समारोह में कोई भी वीआईपी नहीं है जैसा कि इस तरह के कार्यक्रम में देखा जाता है। रामलीला मैदान का माहौल ठीक वैसा ही है जब दो-ढाई साल पहले अन्ना हजारे के दौरान नजर आता था। लेकिन भीड़ तब के मुकाबले कहीं ज्यादा है। अनुमान है कि एक लाख से भी ज्यादा लोग यहां जुटे हैं। खास बात ये है कि निमंत्रण के बावजूद शपथ ग्रहण समारोह में अन्ना हजारे, किरण बेदी और जस्टिस संतोष हेगड़े नहीं पहुंच रहे हैं। अन्ना ने खराब तबीयत का हवाला दिया तो किरण ने बैंगलुरु में पहले से ही एक कार्यक्रम तय होने की बात कही। भ्रष्टाचार विरोधी मुहिम के मुखिया और आप के संयोजक अरविंद केजरीवाल और उनकी कैबिनेट के सभी 6 मंत्रियों ने आज दोपहर 12 बजे रामलीला मैदान में शपथ ली। दिल्ली के उप राज्यपाल नजीब जंग सभी को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। यह अलग तरह की राजनीति का ही असर है कि पहली बार कोई मुख्यमंत्री अपने सहयोगियों के साथ मेट्रो से शपथ लेने गया। आम आदमी पार्टी के शपथ ग्रहण समारोह में करीब 1 लाख लोग जुटे। भारी भीड़ के मद्देनजर दिल्ली सरकार और पुलिस ने पूरा इंतजाम किया। रामलीला मैदान के अंदर जाने के लिए पांच रास्ते रखे गए। इन रास्तों पर 30 सीसीटीवी लगाए गए। 1500 सुरक्षा बलों को निगरानी के लिए लगाया गया। सुरक्षा के तीन स्तर रखे गए। रामलीला मैदान के आसपास के आठ रास्ते बंद कर दिए गए। शपथ ग्रहण समारोह में आम जनता के लिए 11 बजे का समय दिया गया था। 11 बजकर 50 मिनट पर राष्ट्रीय गान हुआ। 11 बजकर 55 मिनट पर चीफ सेक्रेटरी उपराज्यपाल से आगे की कार्यवाही के लिए इजाजत ली। इसके बाद चीफ सेक्रेटरी उपराज्यपाल से मुख्यमंत्री पद के लिए केजरीवाल को शपथ दिलाने के लिए उपराज्यपाल से गुजारिश की। ठीक 12 बजे केजरीवाल को मुख्यमंत्री के पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई गई। 12 बजकर 5 मिनट पर बाकी 6 मंत्रियों ने शपथ ली। आज का दिन आम आदमी के लिए बेहद खास है, क्योंकि अगर आम आदमी पार्टी अपने वायदों पर खरा उतरती है तो देश की राजनीति की दशा और दिशा हमेशा के लिए बदल जाएगी। अनशन के बाद अब शपथ ग्रहण समारोह का ये रामलीला मैदान गवाह बनेगा उस पल का। अब देखना ये है कि जिन लोगों ने इरादों को जन्म दिया और जिम्मेदारियां निभाने इस मुकाम तक पहुंचे, वो कैसे आने वाले दिनों में जनता उम्मीदों पर खरे उतरते हैं। (साभार)
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: केजरीवाल ने ली शपथ, बने दिल्ली के मुख्यमंत्री Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल