ताज़ा ख़बर

दक्षिण भारत के सियासी सर्वे में कांग्रेस पास, भाजपा फेल

नई दिल्ली। लोकसभा के चुनाव में अभी तकरीबन एक साल बाकी हैं। लेकिन सरगर्मियां ऐसी हैं कि जैसे चुनाव कभी भी हो सकते हैं। देश के 18 राज्यों में आईबीएन7 के लिए सीएसडीएस ने सर्वे किया। दक्षिण के तीन राज्यों कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में अगर अभी चुनाव हों तो क्या नतीजे होंगे।
कर्नाटक
सर्वे के नतीजे बताते हैं कि कर्नाटक में फायदा कांग्रेस को हो रहा है। कांग्रेस को 18 से 22 सीट हासिल होने की उम्मीद है। लेकिन बीजेपी को येदुरप्पा के साथ छोड़ने का नुकसान हो रहा है। उधर आंध्र प्रदेश में कांग्रेस को जगन मोहन रेड्डी चोट पहुंचा रहे हैं दोनो को बराबर सीटें मिलती दिख रही हैं। तमिलनाडु में फायदा तो जयललिता को हो रहा है मगर बीजेपी के भी खाता खोलने के आसार हैं।
किसको कितने वोट
कांग्रेस को कर्नाटक में 47 फीसदी वोट मिल रहे हैं और 9 फीसदी वोटों का फायदा है। बीजेपी को 20 फीसदी वोट मिल रहे हैं और 22 फीसदी का नुकसान हो रहा है। जेडीएस को मिल रहे हैं 15 फीसदी वोट और 2 फीसदी का फायदा है। जबकि अन्य को 18 फीसदी वोट मिल रहे हैं और उन्हें 11 फीसदी का फायदा है।
किसको कितनी सीट?
जहां तक सीटों का सवाल है कर्नाटक में कांग्रेस को 18 से 22 सीटें मिल रही हैं। बीजेपी को 2 से 6 सीटें मिल रही हैं जबकि जेडीएस को 2 से 6 सीटें मिल रही हैं। जाहिर है कर्नाटक में बीजेपी इस नुकसान की भरपाई चाहती है। इसीलिए बीजेपी कर्नाटक में येदुरप्पा के वापसी की सुगबुगाहट है।
क्या कर्नाटक बीजेपी चाहती है येदुरप्पा की वापसी?
36 फीसदी चाहते हैं कि येदुरप्पा वापस न आएं। जबकि 14 फीसदी लोग चाहते हैं कि सिर्फ बीजेपी के बुलावे पर हो वापसी। 37 फीसदी चाहते हैं कि खुद ही वापस आएं बीजेपी में। 12 फीसदी ने कहा कि उनकी कोई राय नहीं।
आंध्र प्रदेश
आंध्र प्रदेश में कांग्रेस दो तरफ संकट से जूझ रही है। अगर अभी हों चुनाव तो कांग्रेस को 11 से 15 सीटें मिल रही हैं। बीजेपी को एक भी सीट नहीं मिल रही तो जगन की वाईएसआर कांग्रेस को 11 से 15 सीटें मिल रही हैं। तेलुगुदेशम को 6 से 10 सीटें मिल रही हैं तो तेलंगाना राष्ट्र समिति को 5 से 9 सीटें मिलेंगी। बाकियों को 4 सीटें मिलने के आसार हैं। तेलंगाना मुद्दे का कितना असर होगा इस पर 55 फीसदी लोगों ने कहा हां, जबकि 42 फीसदी ने न कहा। जबकि 3 फीसदी ने कहा कि उनकी कोई राय नहीं। लोकप्रिय चेहरा कौन? 25 फीसदी ने कहा जगन रेड्डी, तो 17 फीसदी ने कहा चंद्रबाबू नायडू, 12 फीसदी ने कहा के चंद्रशेखर राव तो 8 फीसदी की निगाह में किरन रेड्डी लोकप्रिय हैं। 16 फीसदी लोगों की पसंद अन्य नेता हैं।
तमिलनाडु
तमिलनाडु में अगर अभी हों चुनाव तो किसको होगा कितना फायदा। सर्वे के मुताबिक बाजी जयललिता के हाथ में है और शायद बीजेपी भी खाता खोले। किसको कितनी सीट? कांग्रेस को 1 से 5 सीटें मिल रही हैं तो शायद बीजेपी को भी 2 सीटें मिल जाएं। डीएमके को 8 से 12 सीटें मिल रही हैं तो जयललिता की अन्ना डीएमके को 16 से 20 सीटें मिल रही हैं। अन्य को 4 से 10 सीटें मिलेंगी। जयललिता के इस फायदे को एनडीए के फायदे की तरह देखा जा रहा है क्योंकि वो इनदिनो नरेंद्र मोदी की स्वाभाविक मित्र मानी जा रही हैं।
जयललिता सरकार करुणानिधि से बेहतर हैं?
43 फीसदी ने कहा हां जबकि 26 फीसदी ने कहा ना। जबकि 7 फीसदी ने दोनों को अच्छा बताया। 11 फीसदी दोनों को बुरा बताते हैं तो 13 फीसदी की कोई राय नहीं है। (साभार)
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: दक्षिण भारत के सियासी सर्वे में कांग्रेस पास, भाजपा फेल Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल