ताज़ा ख़बर

पंजाब में बिजली की कमी के लिए राज्य सरकार जिम्मेदारः बाजवा

चंडीगढ़। पंजाब कांग्रेस के प्रधान प्रताप सिंह बाजवा ने कहा है कि पंजाब में बिजली की कमी के लिए प्रदेश की आकाली-भाजपा सरकार जिम्मेदार है। बिजली की कमी चिंताजनक स्थिति तक पहुंच गई है और जो सरकार के इस वर्ष के अंत तक पंजाब को पॉवर सरप्लस बनाने के दावों से मेल नहीं खा रही। बाजवा ने कहा कि उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल पिछले छह सालों से बिजली उत्पादन के मुद्दे पर झूठ बोल रहे हैं। आकाली दल ने अपने चुनाव मेनिफेस्टो में पंजाब को तीन सालों में बिजली सरप्लस बनाने का वादा किया था। उन्होंने कहा कि उदघाटन किए जाने का इंतजार कर रहे तीन पॉवर प्लांट बिजली उत्पादन करने की स्थिति से कोसों दूर हैं। मौजूदा पॉवर प्लांट भी कोयले की कमी का सामना कर रहे हैं। सैंट्रल इलेक्ट्रीसिटी अथॉरिटी की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक पीक सीजन में पंजाब में बिजली की कमी 25.6 प्रतिशत है और नॉनपीक सीजन में 19.6 प्रतिशत। उन्होंने बादल को याद दिलाया कि प्रैस विज्ञप्तियों के सहारे बिजली नहीं बनती। इसके लिए दूरदर्शिता व मेहनत की जरूरत होती है। हालांकि गोइंदवाल साहिब थर्मल प्रोजेक्ट 2013 के अंत तक पूरा होने वाला है, मगर कोयले की उपलब्धता न होने से शायद ही यह शुरू हो पाए। इसी तरह तलवंडी साबो व राजपुरा पॉवर प्लांटों के लिए किसी भी कोयले ब्लाक का प्रबंध नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि सरकार हाइड्रो पॉवर का विकल्प इस्तेमाल करने में नाकाम रही है। बाजवा ने कहा कि सुखबीर शायद इस सच्चाई से नावाकिफ होंगे कि पंजाब के किसानों को सिर्फ 2 से 4 घंटे ही बिजली मिल रही है और पंजाब स्टेट पॉवर कार्पोरेशन के चेयरमैन सार्वजनिक तौर पर मान चुके हैं कि उनके पास बिजली की 20 प्रतिशत कमी है।
(अपनी बातों को जन-जन तक पहुंचाने व देश के लोकप्रिय न्यूज साइट पर समाचारों के प्रकाशन के लिए संपर्क करें- Email ID- contact@newsforall.in तथा फोन नं.- +91 8922002003.)
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: पंजाब में बिजली की कमी के लिए राज्य सरकार जिम्मेदारः बाजवा Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल