ताज़ा ख़बर

हरित अभियान के लिए पर्यावरणविदों ने की परमार्थ में चर्चा

पर्यावरण असन्तुलन ही देवभूमि में आई दैवीय आपदा का कारण बना: स्वामी चिदानन्द सरस्वती 
ऋषिकेश (राम महेश मिश्र)। परमार्थ निकेतन में 18 जून को पर्यावरण संरक्षण से जुड़े लोकसेवियों ने आगामी वर्षाकाल में चलाए जाने वाले हरित अभियान के बारे में संगोष्ठी की। पर्यावरणविदों के बीच हुए परस्पर विचार विमर्श में नीलकण्ठ क्षेत्र में ‘नीलकण्ठ वाटिका’ की स्थापना, वीरपुर खुर्द के गंगा पार्क में हरीतिमा संवर्द्धन, हरिद्वार के मंशा देवी एवं चण्डी देवी पहाडि़यों को हरा भरा बनाने तथा नदियों के किनारे वृहद् पौधरोपण करने की योजना तैयार की गई। बैठक की अध्यक्षता परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष श्री स्वामी चिदानन्द सरस्वती ‘मुनि जी महाराज‘ ने की। उत्तराखण्ड में आई प्राकृतिक आपदा को श्री मुनि जी महाराज ने पर्यावरण असंतुलन का प्रत्यक्ष प्रमाण बताया। कहा कि जलवायु परिवर्तन संकेत दे रहा है कि मानव सचेत हो जाए और प्रकृति का शोषण बन्द कर दे, अन्यथा कुदरत का कानून अपने विधान से अपनी व्यवस्था को ठीक करेगा। यह जरूर है कि ऐसा होने पर मनुष्य को भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है। श्री स्वामी जी ने देवभूमि में हो रही जान माल की भारी छति पर चिन्ता व्यक्त करते हुए कहा कि इस आपदा से केवल मानव ही प्रभावित नहीं हुआ है, बल्कि पूरा वन्य जीवन एवं वानिकी सम्पदा तहस नहस हुई है। यह समय पक्षियों एवं वन्य जीवों के प्रजनन का काल है, इस समय यह विनाश उनकी आगे की पीढि़यों को भी नष्ट कर रहा है। हिमालय वाहिनी के अध्यक्ष पर्यावरणविद् विजय पाल बघेल ने इस अवसर पर कहा कि हिमालय की पहाडि़यां वृक्षविहीन हो गई हैं। इस कारण थोड़ी बरसात में ही खिसकने लगती हैं। इसके लिए पहाड़ों पर सघन पौधरोपण करने की जरूरत है। हिमालय वाहिनी द्वारा पक्षियों के लिए कृत्रिम घोसलों में पीपल, बरगद, पिलखन आदि के छोटे बीज पक्षीदाना के रूप में मुहैया कराए जा रहे हैं, जिन्हें खाकर पक्षी अपने बीट के माध्यम से बीजारोपण करेंगे और वर्षाकाल में पहाड़ों पर इस प्राकृतिक तकनीकी से बीजारोपण होकर पहाडि़यां हरी भरी हो सकेंगी। संगोष्ठी में पर्यावरणविद विजय पाल बघेल के अलावा विश्वधर्मसंसद के शेख हाजी मोहम्मद इरशाद, पेड़ पंचायत के अध्यक्ष डा.एसएन मिश्र, पर्यावरणविद राजिन्दर सिंह, पर्यावरण सचेतक समिति के राम नाथ गुटगुटिया, गंगा एक्शन परिवार के विनीत कुमार, नन्दिनी त्रिपाठी तथा परमार्थ निकेतन के प्रतिनिधि श्री राम महेश मिश्र आदि मौजूद थे।
(अपनी बातों को जन-जन तक पहुंचाने व देश के लोकप्रिय न्यूज साइट पर समाचारों के प्रकाशन के लिए संपर्क करें- Email ID- contact@newsforall.in तथा फोन नं.- +91 8922002003.)
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

1 comments:

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: हरित अभियान के लिए पर्यावरणविदों ने की परमार्थ में चर्चा Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल