ताज़ा ख़बर

निष्पक्ष व पारदर्शी पत्रकारिता से समाज को सार्थक दिशा संभव

पत्रकारिता दिवस पर बही ‘विचार प्रवाह’ की बयार 
सलेमपुर (देवरिया)। समाज को आइना दिखाने का काम पत्रकार और पत्रकारिता करती है। समाज की दिशा को किसी भी तरफ मोड़ देने सक्षम है पत्रकारिता। लेकिन यह तभी सम्भव है जब वह निश्पक्ष हो और उसका स्वरुप पारदर्शी हो। उक्त बातें विधायक मनबोध प्रसाद ने अपने सम्बोधन में कहीं। वे 30 मई को पत्रकारिता दिवस के अवसर पर श्रीआदर्श सरवार संस्कृत महाविद्यालय के सभगार में भारतीय राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ द्वारा आयोजित कर्यक्रम ‘विचार प्रवाह’ में बतौर मुख्य अतिथि अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। इस दौरान निर्मल स्वर साप्ताहिक के सम्पादक एवं पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष सुधाकर गुप्त ने कहा कि ऐसे आयोजन नियमित रुप से होते रहने चाहिए। ‘विचार प्रवाह’ का शुभारम्भ मुख्य अतिथि द्वारा मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण कर किया गया। इसमें उनका साथ दिया भारतीय राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सरदार दिलावर सिंह, प्रान्तीय संगठन मन्त्री मुक्तिनाथ उपाध्याय, जिलाध्यक्ष डा.जनार्दन सिंह, जिला कोषाध्यक्ष विश्वामित्र मिश्र, साहित्यकार व गीतकार गिरिधर करुण, पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष सुधाकर गुप्त, डा.धर्मेंन्द्र पाण्डेय, व्यापार मण्डल अध्यक्ष शम्भूदयाल गुप्त, उदय नारायण तिवारी ने। कार्यक्रम में मन्तेश्वर मिश्र ने पत्रकारिता के मर्म बिन्दुओं छुआ और इसमें आई विसंगतियों को रेखांकित किया। बैतालपुर से पधारे पाटलीपुत्रा टाइम्स के पूर्वांचल प्रभारी प्रदीप देव ने पत्रकारों से निष्पक्ष पत्रकारिता करने पर बल दिया। मुक्तविचार साप्ताहिक के सम्पादक चक्रपाणि ओझा ने पत्रकारों से जन सरोकारों से जुड़ी पत्रकारिता पर जोर देने को कहा। भलुअनी से पधारे पत्रकार प्रदीप चैरसिया ने ग्रामीण पत्रकारों की समस्याओं से सम्बन्धित बिन्दुओं को उकेरा। व्यापार मण्डल के अध्यक्ष शम्भूदयाल गुप्त ने पत्रकारों के प्रशिक्षण पर बल दिया। ब्लाक कांग्रेस के अध्यक्ष डा.धर्मेन्द्र पाण्डेय ने पत्रकारिता में आई विसंगतियों पर प्रहार करते हुए कहा कि पुलिस अपना कोरम पूरा करने और विभिन्न वजहों से अपराधी को बचाने के लिए किसी भी निरीह को उसके घर से पकड़ उसका गाजा या आम्र्स एक्ट में चालान कर पत्रकारों से अपने मन मुताबिक समाचार छपवाती है। उन्होने पत्रकारों से इस विशय पर गम्भीरता से सोचकर ऐसी नीति बनाने पर बल दिया की ऐसे समाचारों में पुलिस की ऐसी कार्यवाही पर प्रश्न चिन्ह खडा़ हो सके। प्रधानाचार्य भगीरथी प्रसाद ने पत्रकारों से अपनी लेखनी में और धार देने को कहा। गीतकार गिरिधर करुण ने पत्रकारिता में हिन्दी साहित्य के सकारात्मक शब्दो के अभाव पर चिन्ता प्रकट की। सिंगापुर से आये चुन्नू सिंगापुरी ने भेाजपुरी क्षेत्र में पत्रकारों से भोजपुरी के विकास पर ध्यान देने की अपील की। पूर्व प्रधानाचार्य ब्रिजेश सिन्हा ने पत्रकारों से पत्रकारिता पर आत्मचिन्तन को जीवन का अंग बनाने को कहा। पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष सुधाकर गुप्ता ने कहा कि सकारात्मक समाचारों पर विशेश बल दिया जाना चाहिए। इनके अलावा जिला पंचायत सदस्य कन्हैया जायसवाल, उदय नारायण तिवारी, प्रतापपुर से पधारे अनिरुद्ध गुप्ता, संजय यादव, संजीव, जीतेन्द्र पाण्डेय, जवाहर लाल गुप्ता, नीलाम्बुज मिश्र, बृजेश द्विवेदी, संयुक्त राज्य कर्मचारी परिशद के अशोक पाण्डेय, अनिरुद्ध यादव, रवि खरवार, राजेश प्रसाद, अजय कुमार गौतम, सत्यप्रकाश विश्वकर्मा, पूर्व प्रधान सुनील यादव, पूर्व जेलर सुरेन्द्र पाण्डेय, विधायक के मीडिया प्रभारी मंजूर आलम, अजय कुशवाहा सहित तमाम लोगों नें सम्बोधित किया। अन्त में जिलाध्यक्ष डा. जनार्दन सिंह ने सभी के प्रति आभार प्रकट किया। विचार प्रवाह के आयोजक गण सरदार दिलावर सिंह, मुक्तिनाथ उपाघ्याय एवं विश्वामित्र मिश्र ने पत्रकार महासंघ के जरिये वक्ताओं की अपेक्षाओं पर खरा उतरने का आश्वासन दिया गया। संचालन बसन्त कुमार बागी ने किया।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: निष्पक्ष व पारदर्शी पत्रकारिता से समाज को सार्थक दिशा संभव Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल