ताज़ा ख़बर

ये थाना है या कबाड़खाना?

बागपत की बदहाल महिला थाने की ओर किसी की नजर नहीं, कर्मी परेशान
बागपत (महबूब अली)। इसे विभागीय अधिकारियों की अनदेखी ही कहा जायेगा या फिर कुछ और कि महिला थाना अपनी बदहाली पर आसू बहाने को मजबूर है। महिला थाने पर अव्यवस्था का आलम है। मगर शिकायत करने पर भी विभागीय अधिकारी इस तरफ कोई ध्यान नहीं दे रहे है। जिस समय बागपत में महिला थाना बना यहां के लोगों को उम्मीद जगी थी कि अब महिला उत्पीडऩ के मामलों पर अंकुश लगेगा। कुछ हद तक अपराधों पर अंकुश भी लगा। मगर वर्तमान में महिला थाना अपनी बदहाली पर आसू बहा रहा है। प्रांगण से लेकर बाहर तक महिला थाने में वाहन ही वाहन नजर आते हैं। बताया गया कि कोतवाली में पकड़े जाने वाले वाहनों को भी यहीं पर लाकर खड़ा कर दिया दिया जाता है। वाहनो के खड़े होने से महिला थाने की साफ-सफाई भी नहीं हो पाती। नतीजतन प्रतिदिन सांप व अन्य कीट निकलते रहते हैं। जिसे लेकर पुलिसकर्मियों में प्रतिदिन चीख-पुकार मचती रहती है। इसके अलावा यहां पर लगा हैंडपंप पिछले कई दिन से ठप है। कई बार सही कराने की मांग भी की जा चुकी है, मगर परिणाम सिफर रहा है। यहीं नहीं वाहनों से आए दिन चोर सामान चोरी करते रहते है। पुलिसकर्मियों के लिए सोने व रहने की उचित व्यवस्था नहीं है। नतीजतन महिला पुलिसकर्मियों को पुलिस लाइन में काफी दूर तक जाना पड़ता है। पुलिसकर्मियों ने बताया कि समस्याओं के समाधान की मांग कई मर्तबा विभागीय अधिकारियों से की जा चुकी है मगर समस्या का समाधान नहीं हो पा रहा है। इस बारे में महिला थाना इंचार्ज प्रतिभा का कहना है कि समस्याओं के निदान के लिए आलाधिकारियों को अवगत कराया जा चुका है। उधर, इस बारे में एसपी राजू बाबू सिंह का कहना है कि जल्द ही महिला थाने से वाहनों को हटाकर पुलिस लाइन में खड़ा करा दिया जायेगा। कर्मचारियों को परेशानी नहीं होने दी जायेगी।
(अपनी बातों को जन-जन तक पहुंचाने व देश के लोकप्रिय न्यूज साइट पर समाचारों के प्रकाशन के लिए संपर्क करें- Email ID- contact@newsforall.in तथा फोन नं.- +91 9411755202.। अपने आसपास के आंतरिक व बाह्य हलचल को मेल द्वारा हमें बताएं। यदि आप चाहते हैं कि आपका नाम, पता, फोन, इमेल आइडी गोपनीय रखा जाए तो इसका अक्षरशः पालन होगा।)
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: ये थाना है या कबाड़खाना? Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल