ताज़ा ख़बर

परमार्थ गंगा तट पर मना समाजसेवी अन्ना हजारे का 75वां जन्मदिन

ऋषिनगरी में मिले स्नेह से अन्ना हुए अभिभूत, स्वामी चिदानन्द सरस्वती ने कहा-‘ भ्रष्टाचारमुक्त और पर्यावरणयुक्त भारत समय की आवश्यकता’  
ऋषिकेश। प्रख्यात समाजसेवी अन्ना हजारे का 75वां जन्मदिन परमार्थ गंगा तट पर मनाया गया। सायंकालीन गंगा आरती में अन्ना के जन्मोत्सव में देश के अनेक राज्यों एवं विश्व के कई देशों के लोग एवं गंगाप्रेमी सम्मिलित हुए। अन्ना हजारे ने अपने संक्षिप्त उद्बोधन में कहा कि ऋषिनगरी में मिले अपार स्नेह व सहयोग से गहरे तक अभिभूत हूं। इस अवसर पर परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष श्री स्वामी चिदानन्द सरस्वती ने ‘वृक्ष लगाओ-बेटी बचाओ’, पेड़ लगाओ-पुत्री बचाओ’ उद्घोष के साथ भ्रष्टाचारमुक्त और पर्यावरणयुक्त भारत को समय की आवश्यकता बताया। उल्लेखनीय है कि अन्ना हजारे की जन्म तिथि 15 जून है। वह चार दिवसीय कार्यकर्ता प्रशिक्षण के सिलसिले में परमार्थ निकेतन में प्रवास कर रहे हैं। यह जानकारी पाकर गंगा एक्शन परिवार-परमार्थ निकेतन के कार्यकर्ताओं ने उनका जन्मदिन गंगातट पर धूमधाम से मनाया। इस मौके पर 75 दीपक भी गंगा तट पर जलाए गए और उनके उज्ज्वल भविष्य के लिए गायत्री मन्त्र एवं महामृत्युंजय मन्त्र की आहुतियां दी गईं। अन्ना ने इस अवसर पर कहा कि तीर्थनगरी-ऋषिनगरी में आकर उन्हें गहरी शान्ति व शक्ति मिली है और वह यहां मिले स्नेह व सहयोग से गहरे तक अभिभूत हैं। इस अवसर पर श्री मुनि जी महाराज ने गंगा तट से ‘वृक्ष लगाओ-बेटी बचाओ’ एवं पेड़ लगाओ-पुत्री बचाओ’ का उद्घोष किया और कहा कि प्रकृति को सजाने के लिए पौधरोपण तथा प्रकृति की रक्षा के लिए बेटियों की रक्षा बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि गंगा एक्शन परिवार द्वारा अन्ना हजारे के जन्म दिवस पर वर्ष भर के लिए विशेष संकल्प लिए गए हैं तथा इस वर्ष गंगा, गाय और गौरी (बेटी) के लिए अनेक कार्यक्रम चलाये जायेंगे। इनकी पूर्णाहुति 15 जून 2014 को अन्ना हजारे के जन्मोत्सव पर परमार्थ गंगा तट पर की जायेगी। उस दिन विशेष रूप पर बेटी बचाओ अभियान में काम करने वाली शक्तियों को सम्मानित किया जायेगा। परमार्थ प्रवक्ता ने बताया कि अन्ना हजारे बुधवार को जनतंत्र मोर्चा के कार्यकर्ताओं का प्रशिक्षण सम्पन्न कराकर ऋषिकेश से वापस जायेंगे।
अन्ना के जन्म दिन की कुछ खास बातें

+ श्री स्वामी जी ने अन्ना जी को इलायची का माला पहनाकर, दुपट्टा ओढ़ाकर और रुद्राक्ष का पौधा भेंट कर सम्मानित किया। उपस्थित हजारों लोगों ने करतलध्वनि से उनका अभिनन्दन किया।
+ श्री स्वामी जी ने अन्ना जी की मां को याद किया और कहा कि उन्होंने अन्ना के रूप में विलक्षण रुद्राक्ष राष्ट्र वसुधा को दिया।
+ अन्ना ने कहा कि गंगा तट पर जन्म दिन की शुभकामनायें पाकर आज मैं 75 साल का जवान बन गया।
+ श्री अन्ना हजारे ने गंगा व यमुना को प्रदूषणमुक्त करने के लिए काम करने का संकल्प उपस्थित जनों को दिलाया। सभी ने दोनों हाथ उठाकर और मुट्ठी बांधकर यह संकल्प लिया।
+ श्री स्वामी जी ने देश भर के सज्जनों को सक्रिय और संगठित होने की जरूरत बताई।
+ गंगा आरती में यमुना रक्षक दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वामी जयकृष्ण दास, यमुना रक्षा अभियान में सक्रिय दक्षिण भारत के सन्त नारायण स्वामी, यमुना रक्षक दल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री राकेश यादव, राष्ट्रीय महामंत्री श्री हरीश ठेनुआ भी मौजूद थे।
+ उत्तर प्रदेश के पूर्व खाद्य एवं कारागार मंत्री रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भईया तथा हरिद्वार स्थित वन्देमातरम कुंज के प्रमुख आशीष भइया ने भी गंगा आरती में शिरकत की।
+ श्री स्वामी जी ने चौथी दुनिया के प्रधान सम्पादक सन्तोष भारतीय एवं विद्वान कथावाचक श्री हिमांशु भाई शास्त्री को भी सम्मानित किया।
(अपनी बातों को जन-जन तक पहुंचाने व देश के लोकप्रिय न्यूज साइट पर समाचारों के प्रकाशन के लिए संपर्क करें- Email ID- contact@newsforall.in तथा फोन नं.- +91 8922002003.)
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

आपकी प्रतिक्रियाएँ क्रांति की पहल हैं, इसलिए अपनी प्रतिक्रियाएँ ज़रूर व्यक्त करें।

Item Reviewed: परमार्थ गंगा तट पर मना समाजसेवी अन्ना हजारे का 75वां जन्मदिन Rating: 5 Reviewed By: न्यूज़ फ़ॉर ऑल